Personality Development Workshop का आयोजन किया

पीलीबंगा | तेरापंथ युवक परिषद के तत्वाधान में Personality Development Workshop का आयोजन रविवार को जैन भवन में साध्वीश्री गुप्तिप्रभाजी के सानिध्य में हुआ। साध्वीश्रीजी  ने कहा कि “ परम पूज्य आचार्य श्री तुलसी व्यक्तित्व विकास के रहनुमा थे, उन्होंने अपने जीवन में सैकड़ों व्यक्तियों का विकास किया | उन्ही की एक अलौकिक देन है तेरापंथ युवक परिषद | आज हजारों युवक कार्यकर्ता है, उन्हें अपना व्यक्तित्व एवं कर्तव्य निखारने के लिए पांच बातों की अपेक्षा है - युवकों में श्रद्धाशीलता, विचारशीलता, कर्मशीलता, सहनशीलता एवं चरित्रशीलता हो |

साध्वीश्री कुसुमलता जी व साध्वी भावितशाजी जी ने सुमधुर गीतों का संगान किया | साध्वी मौलिक यशाजी ने व्यक्तित्व विकास के लिए बाह्य से ज्यादा आंतरिक सौंदर्य को बढ़ाने हेतु कुछ बिंदुओं पर प्रकाश डाला 1 . be worthy of your words  2. be short in criticizing and long in appreciation  3. do not reject – your self  4. let's go 5. सयंम | कार्यशाला का शुभारम्भ राजकुमार छाजेड ने विजय गीत संगान से किया। कार्यशाला में आभातेयुप के कार्यकारणी सदस्य दीपक पुगलिया तथा देवेन्द्र डागा, श्रीगंगानगर–हनुमानगढ़ आंचलिक अध्यक्ष मांगीलाल रांका, महासभा कार्यकारणी सदस्य देवेन्द्र बांठिया, वरिष्ठ श्रावक बंसीलाल दुगड़, जसकरण बांठिया, डूंगरमल दुगड़ सकल जैन सभा अध्यक्ष मूलचंद बांठिया, तेरापंथ सभा अध्यक्ष प्रदीप बोथरा, तेयुप अध्यक्ष रणजीत छाजेड़, ,कमलापत पटावरी, राजीव दुगड़, सिरसा से आये विकास, सूरतगढ़ से पवन जैन, मालचंद रांका, अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल कार्यकारणी सदस्य पुष्प नाहटा, तेरापंथ महिला मंडल अध्यक्ष विनोद देवी बांठिया आदि उपस्थित थे |मंच का संचालन सतीश पुगलिया ने किया |

Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा