डेंगू बचाव के लिए डोर-टू-डोर जागरूक किया

पीलीबंगा| कस्बे में बढ़ रहे डेंगू के प्रकोप के मद्देनजर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित की गई विशेष टीम द्वारा सभी वार्डों में डोर टू डोर जाकर आमजन को डेंगू की रोकथाम के प्रति जागरूक करने का कार्य लगातार जारी है। रविवार को बीसीएमओ डॉ. संदीप तनेजा ने बताया कि डेंगू मच्छर के काटने से होने वाला एक संक्रामक रोग है जो अपना असर मच्छर के काटने के तीन से 14 दिनों बाद दिखाता है। उन्होंने बताया कि तेज ठंड लगकर बुखार आना, सरदर्द, आंखों में दर्द, बदन जोड़ों में दर्द, भूख कम लगना, उल्टी आना, दस्त लगना डेंगू बुखार होने के लक्षण हैं। 
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा