बीकानेर व बठिंडा में ठहराव वाली ट्रेनों को श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ तक बढ़ाने का मुद्दा संसद में उठा


बीकानेर व बठिंडा ठहराव वाली लंबी दूरी की ट्रेनों को श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ तक बढ़ाने सहित क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विस्तार का मुद्दा सोमवार को संसद में उठा। सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री निहालचंद ने यह मुद्दा उठाते हुए क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विस्तार की मांग केंद्र सरकार के समक्ष रखी। 
निहालचंद ने कहा कि कोचीवल्ली-बीकानेर और नांदेड़-बीकानेर दोनों ट्रेनें बीकानेर में लगभग 10-11 घंटे तक रुकी रहती हैं। इन दोनों ट्रेनों को श्रीगंगानगर तक बढ़ाया जाए एवं किसान एक्सप्रेस 14519/20 और 19225/26 जम्मू-भटिंडा दोनों ट्रेनें भटिंडा में लगभग 5-6 से घंटे खड़ी रहती हैं। इनको हनुमानगढ़ तक बढ़ाया जाए ताकि सीमावर्ती क्षेत्र को रेल सेवा का लाभ मिल सके। साथ ही उन्होंने हनुमानगढ़ में वाशिंग लाइन का निर्माण करवाने की मांग रखी। 
साथ ही उन्होंने कहा कि वर्तमान में श्रीगंगानगर-दिल्ली-श्रीगंगानगर के मध्य सिर्फ एक एक्सप्रेस गाड़ी और एक इंटरसिटी रेलगाड़ी का संचालन किया जा रहा है, परंतु हनुमानगढ़ जिले के लिए कोई सीधी रेल सेवा नहीं है। श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ दोनों ही जिलों के यात्रा भार में वृद्धि हुई है और अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे इन जिलों में यदि दिल्ली-श्रीगंगानगर-दिल्ली (वाया हनुमानगढ़) के लिए एक नई ट्रेन का संचालन किया जाए ताकि क्षेत्र के लोगों को लाभ मिल सके।
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा