श्रीरामचरितमानस कथा में नर लीला रचने का प्रसंग सुनाया

पीलीबंगा. गीताभवन कमेटी द्वारा गीता भवन प्रांगण में आयोजित किए जा रहे श्रीरामचरितमानस कथा ज्ञानयज्ञ के चौथे दिन मंगलवार को स्वामी सुरेश मुनि जी महाराज स्वामी रामानंद ब्रह्मचारी ने उपस्थित श्रद्धालुओं को भगवान द्वारा नर लीला रचने के प्रसंग को सुनाया। स्वामी जी ने कहा कि भगवान ने समस्त प्राणीमात्र का भला करने के लिए पृथ्वी पर हर युग में नर रूप धारण किया। इस दौरान उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण एवं माता यशोदा का प्रसंग भी सुनाया। इस अवसर पर प्रेम सिंगला, विजय बंसल, इंदोज दूधवाल, पुरुषोत्तम सिंगला, लालचंद छिंपा, श्यामसुंदर शर्मा, टीसी मित्तल, पंडित नरसीराम, तनसुखदास पाणेचा बृजलाल गर्ग सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे।
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा