मजदूरों को परेशान करने का आरोप, वेयर हाऊस के प्रबंधक का घेराव, प्रदर्शन किया

सीटू से जुड़े श्रमिक संगठनों के मजदूरों के द्वारा शनिवार को एफसीआई लेबर यूनियन के अध्यक्ष शेर सिंह के नेतृत्व में राजस्थान स्टेट वेयर हाऊस के प्रबंधक का घेराव कर प्रदर्शन किया। इस घेराव प्रदर्शन कार्यक्रम में अनाज मंडी लेबर यूनियन व जनता ट्रैक्टर ट्राली यूनियन के भी सैकड़ों श्रमिक शामिल हुए। एफसीआई लेबर यूनियन अध्यक्ष शेर सिंह ने बताया कि आरएसडब्ल्यूसी प्रबंधक द्वारा एफसीआई द्वारा खरीद किए गए गेहूं का वेयर हाऊस में प्रवेश पर स्टेकिंग कराने के लिए अनावश्यक रूप से श्रमिकों को परेशान किया जा रहा था। विगत 5 दिनों से श्रमिकों की टोलियों को काम करते वक्त ट्रालियों का इंतजार करना पड़ रहा था। वेयर हाऊस गेट के समक्ष चैकिंग के नाम पर ट्रैक्टर ट्राली को रोके रखकर लंबा जाम बना दिया जाता था। इसके विपरीत श्रमिक गेहूं का उठाव ज्यादा से ज्यादा करने के पक्षधर होने व मौसम बदलाव को देखते हुए कार्य में तेजी लाना चाहते थे ताकि विगत वर्ष की भांति प्रतिदिन गेहूं का उठाव हो सके व किसान व व्यापारियों को परेशानी का सामना न करना पड़े। इसी बात को लेकर एफसीआई लेबर यूनियन के श्रमिकों द्वारा आरएसडबल्यूसी के मुख्य गेट को बंद कर प्रदर्शन किया गया। वार्ता में समस्या का उचित समाधान के आश्वासन पर श्रमिकों ने कार्य को दोबारा शुरू किया। इस अवसर पर माकपा के मनीराम मेघवाल ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर प्रबंधक द्वारा अपने रवैये में सुधार नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा। 
प्रबंधक की नीतियों का किया विरोध यहां हुई सभा को शेर सिंह, पतरस मसीह, गगनदीप मान, शकूर खान व विनोद मांवर ने संबोधित करते हुए आरएसडब्ल्यूसी के प्रबंधक की तानाशाही का जमकर विरोध किया। गेहूं का उठाव बंद होने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे व्यापार मंडल सचिव पवन मित्तल, जगदीश सहारण व प्रेम गर्ग की मध्यस्थता में वार्ता हुई।
Post a Comment

Popular posts from this blog

प्रेरकों को 6 हजार मानदेय दें

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक