अनुकंपा पर नियुक्त कर्मचारियों को कनिष्ठ लिपिक का दर्जा देने की मांग

पीलीबंगा| डिस्कॉम द्वारा वर्ष 2017 में अनुकंपा पर नियुक्त कर्मचारियों की सूची मांगते हुए उस पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था परंतु एक वर्ष बीत जाने के बाद भी डिस्कॉम ने कोई कार्रवाई नहीं की। ऐसे में कर्मचारियों में डिस्कॉम के प्रति असंतोष की भावना पनप रही है। इस संबंध में भारतीय मजदूर संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने संघ के जिलाध्यक्ष कृष्ण तायल के नेतृत्व में जयपुर में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री से मुलाकात कर उन्हें इस संबंध में ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में संघ ने अनुकंपा पर नियुक्त कर्मचारियों को विभाग में कनिष्ठ लिपिक का दर्जा देने की मांग की। जिलाध्यक्ष ने बताया कि विद्युत वितरण निगम की कंपनियों में कार्यरत ऐसे सैकड़ों कर्मचारी हैं, जो कि अनुकंपा के आधार पर नियुक्त हुए हैं। जिनका पद निगम में प्रथम द्वितीय सहायक के रूप में है, जबकि उनके पास कनिष्ठ लिपिक पद की योग्यता होने के बावजूद उन्हें निगम द्वारा अभी तक इन कर्मचारियों को समायोजित नहीं किया गया है। वे कर्मचारी विगत कई वर्षों से सहायक के पद पर कार्य कर रहे हैं जबकि राजस्थान सरकार में अनुकंपा पर नियुक्त सीनियर सेकंडरी पास कर्मचारियों को कनिष्ठ लिपिक पद पर नियुक्ति दी जाती है। ज्ञापन सौंपने गए प्रतिनिधिमंडल में गजेंद्र सिंह, कमल सिंह, जीवनराम, राधेश्याम, सुरेश कुमार, विवेक व धीरज सहित अनेक कर्मचारी शामिल थे।
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा