लोगों को स्वच्छता के लिए जागरूक करने के नुक्कड़ नाटक

स्वच्छ भारत मिशन के तहत नगर के विभिन्न वार्डों में नगरपालिका प्रशासन द्वारा अखिल भारतीय साहित्य परिषद श्रीजय लक्ष्मी साहित्य कला एवं नाटक मंच के सहयोग से आयोजित किए जा रहे नुक्कड़ नाटकों के क्रम में शुक्रवार को कस्बे के वार्ड 20 में नाटक काव्य गोष्ठी का आयोजन वरिष्ठ साहित्यकार निशांत की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम में बलविंद्र भनौत के नुक्कड़ नाटकों 'जमूरे का हाल', 'स्वच्छता के लाभ' 'रुलिया का हाल' नाटकों का मंचन किया गया। काव्य गोष्ठी में निशांत ने कविता 'मेरी प्राथमिकता', बलविंद्र भनौत ने गजल 'हमारी हर कहानी में नाम आता हैं', विजय बवेजा ने कविता 'धरती पर स्वर्ग बनाएंगे' 'अभियान ने सफल बनाणो है', निखिल बिश्रोई ने 'सड़कों पर टोल' तथा प्रकाश बिश्रोई ने कविता 'आधा गीला आधा सूखा' पेश कर सभी को स्वच्छता का संदेश दिया। नुक्कड़ नाटकों में मंच के कलाकारों बलविंद्र भनौत, विजय बवेजा, निखिल बिश्रोई, प्रकाश बिश्रोई, राकेश वर्मा अक्षित कुल्हडिय़ा ने सहयोग किया। कार्यक्रम में मंजू सोनी, बालूराम भार्गव, चानणराम, अशोक राजपूत, कृष्णलाल, भूराराम, दर्शन सिंह, गंगाराम, विकास, पृथ्वीराज अरुण मित्तल उपस्थित थे। 
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा