अब एनटीए ही कराएगा जेईई और नीट, साल में दो बार होंगी परीक्षाएं

नई दिल्ली : राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) इस साल 2018 से नीट, यूजीसी नेट, जेईई मेन्स, सीमैट और जीपैट परीक्षा कराएगी। पहले यह परीक्षा CBSE कराती थी। शनिवार को मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसका ऐलान किया। | उन्होंने कहा कि सभी परीक्षाएं कम्प्यूटर आधारित होगी। जेईई और नीट परीक्षा साल में दो बार होगी। छात्र अपनी पसंद का परीक्षा शेड्यूल चुन सकेगे अर्थात वे परीक्षा की पांच | तारीखों में से किसी एक तारीख को | परीक्षा दे सकेंगे। परीक्षा के पैटर्न, भाषा और फीस में कोई बदलाव नहीं होगा, कम्प्यूटर से परीक्षाएं कराने से छात्रों को आसानी होगी।
जावड़ेकर ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि जिनके पास कंप्यूटर नहीं है। वे छात्र परीक्षा केंद्रों में जाकर मुफ्त में इसकी ट्रेनिंग ले सकेंगे। अगस्त से नवंबर तक यह ट्रेनिंग ली जा सकेगी। इसके लिए जगह जगह पर कंप्यूटर सेंटर खोले जाएंगे।
दावा, पर्चा लीक की संभावना खत्म
केंद्र सरकार का कहना है कि इस प्रणाली से पेपर लीक होने की संभावनाएं खत्म हो जाएगी। जावड़ेकर के मुताबिक सिलेबस, फीस भाषाओं में बदलाव, प्रश्नों के रूप में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा। उन्होंने बताया कि नेट की परीक्षा इस साल दिसंबर में होगी। वहीं जेईई मेन्स अब दो बार होगी। जेईई मेन्स की परीक्षा हर साल जनवरी और अप्रैल में कराई जाएगी। नीट की परीक्षा हर साल फरवरी और मई में कराएगी। उन्होंने बताया कि कोई छत्र अगर परीक्षा नहीं दे पाता तो उसे दूसरा मौका मिलेगा।
Post a Comment

Popular posts from this blog

हनुमानगढ़ जिले का स्थापना दिवस आज

पारिवारिक न्यायालय के अनूठे फैसले- परिवार टूटने के बजाय हो रहे एक

‘नाटकों का सामाजिक जीवन में महत्व’ विषय पर परिचर्चा